पार्वतीजी की दृढ़ निष्ठा ने जीत लिया शिवजी का मन।